Shakambari Jayanti 2015 Date~शाकंभरी जयन्ती
 

5 January 2015, Monday

Shakambari Jayanti in 2015 will be observed on monday, 5th January, 2014 पौष पूर्णिमा के दिन को शाकंभरी जयंती के रूप में भी मनाया जाता है. देवी शाकम्भरी को दुर्गा का अवतार माना गया है मां के इस अवतार की एक कथा इस प्रकार है कि जब प्राचीन काल में पृथ्वी पर सूखा पड गया और सौ वर्ष तक वर्षा नही हुई तो चारो ओर सुखे के कारण हा-हाकार मच जाता है. पृथ्वी के सभी जीव पानी के बिना प्यास से मरने लगते हैं और सभी तथा सभी पेड़ पौधे वनस्पति सूख जाती है. इस संकट के समय सभी ऋषि मुनि एक आस्थ मिलकर देवी भगवती की अराधना करते हैं. अपने भक्तों की पुकार सुन कर देवी ने पृथ्वी पर शाकुम्भरी नामक रूप में अवतार लिया व पृथ्वी को वर्षा के जल से सराबोर कर दिया इससे पृथ्वी पर पुन: जीवन का संचार हुआ ओर चारों हरियाली छा गई अत: देवी के इस अवतार को शाकम्भरी के रूप में पूजा जाता है और इस दिन को शाकंभरी पूर्णिमा या शाकंभरी जयंती के रूप में मनाया जाता है.